नई सोच नई कहानी बयां करती है निरहुआ सटल रहे 

भोजपुरी फिल्मो पर एक ही तरह की कहानी , एक ही तरह की सोच का आरोप लगता रहता है और काफी हद तक इसमें सच्चाई भी है । अगर आप इससे ऊब गए हैं तो निरहुआ सटल रहे जरूर देखना चाहिए । नई कहानी , नई सोच और निर्देशन में नवीनता लिए हुए निरहुआ सटल रहे पिछले शुक्रवार को बिहार में रिलीज़ हुई है जबकि इस शुक्रवार को मुम्बई में रिलीज़ हो रही है ।

आपको बता दें कि निरहुआ सटल रहे नाम के एक एलबम ने बरसो पहले भोजपुरिया जगत में धूम मचाई थी और उसी एलबम से आज के जुबली स्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ का उदय हुआ था, अब उसी एलबम का विस्तार एक फ़िल्म के रूप में किया गया है । मुस्कान मूवीज के बैनर तले निर्माता नासिर जमाल की इस फ़िल्म का निर्देशन किया है युवा निर्देशक मोहसिन खान ने । मोहसिन प्रसिद्द अभिनेता मुश्ताक खान के पुत्र हैं और उन्होंने विदेश में रहकर निर्देशन का कोर्स किया है । निरहुआ सटल रहे उनकी पहली फ़िल्म है ।  जुबली स्टार निरहुआ ने बताया की कहानी में नवीनता निरहुआ सटल रहे कि खासियत है । यही नही निर्देशक मोहसिन खान का निर्दशन इस फ़िल्म में काफी अच्छा है । कोई भी दृश्य ऐसा नही है जिसे देखकर किसी दूसरी फिल्म की याद आती हो । उन्होंने आगे कहा कि मोहसिन खान की सोच इस फ़िल्म को लेकर काफी अलग थी जिसे उन्होंने बखूबी पर्दे पर उतारा भी है ।———-Uday Bhagat PRO

Print Friendly, PDF & Email