चर्चित आर्ट डायरेक्‍टर जयंत देशमुख ने की शिवचंद्र राम से मुलाकात

मल्‍टीयार्ड कॉम्‍पलेक्‍स कल्‍चर से राज्‍य में होगा कला विकास : जयंत देशमुख

देश के चर्चित आर्ट डायरेक्‍टर जयंत देशमुख ने आज पटना में कला, संस्‍कृति एवं युवा विभाग के मंत्री शिवचंद्र राम के आवास पर उनसे मुलाकात की। इस दौरान मंत्री ने जयंत देशमुख का स्‍वागत बुके देकर किया और यक्षिणी की मूर्ति देकर सम्‍मानित भी किया। जयंत देशमुख ने मंत्री से राज्‍य सरकार द्वारा हाल ही में फिल्‍म कचल्‍र को बढ़ावा देने के लिए किए जा रहे प्रयास की सराहना करते हुए मल्‍टीयार्ड कॉम्‍पलेक्‍स कल्‍चर को विकासित करने की बात कही। उन्‍होंने कहा कि सभी राज्‍यों में एक ऐसा मल्‍टीयार्ड कॉम्‍पलेक्‍स होने चाहिए, जहां थियेटर, सिनेमा, पेटिंग जैसे कलाओं के एक सेंटर हो। इससे कला का माहौल बनता है और देश भर के लोग ऐसे सेंटर की ओर आकर्षित होते हैं।

कई फिल्‍मों में प्रकाश झा के साथ काम कर चुके जयंत देशमुख ने कहा कि बिहार वैसे भी पहले से कही कला का केंद्र रहा है। यहां बड़े – बड़े फिल्‍मकार, कवि, लेखक हुए हैं। मगर फिर भी यहां के लोगों को मुंबई जाना पड़ता है। वहीं, साउथ इंडस्‍ट्री के कलाकारों को मुंबई जाने की जरूरत नहीं पड़ती है। वे अपने प्रदेश में रहकर ही इंटरनेशनल ख्‍याति पाते हैं। ये ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण है। उन्‍होंने कहा कि इसलिए मल्‍टीयार्ड कॉम्‍पलेक्‍स कल्‍चर सभी राज्‍यों में होना चाहिए।

इसके अलावा उन्‍होंने राज्‍य में कला के संस्‍थानों के विकास पर भी जोर दिया और कहा कि सभी राज्‍यों में फिल्‍मों व अन्‍य कलाओं को बढ़ावा देने के लिए शिक्षण संस्‍थान का होना आवश्‍यक है। आज लोग अपनी प्रति‍भा को निखारने के लिए एनएसडी जाते हैं। अगर सभी राज्‍यों में ऐसे संस्‍थान हो जाए, तब स्‍थानीय प्रतिभाओं का पलायन नहीं होगा। उन्‍होंने ये भी कहा कि आज भोजपुरी व अन्‍य स्‍थानीय भाषाओं की फिल्‍मों के लिए मुंबई जाना पड़ता है। ऐसे सेंटर खुलने से यहां के फिल्‍मकारों को भी मुंबई जाने की जरूरत नहीं होगी।       

Print Friendly, PDF & Email